विशेषज्ञों के कुछ सुझाव

अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें

अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें

स्मार्ट ग्रिड इंडेक्स


ग्रीनहाउस गैसों के वैश्विक उत्सर्जन में बहुत अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है और इसमें जीवाश्म ईंधनों पर निर्भर रहने वाले विद्युत संयंत्रों का बड़ा योगदान है। 2005 से लेकर अभी तक भारत का कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन दोगुना हो गया है और इसकी वजह कोयले के उपयोग में आई ज़बरदस्त तेज़ी है। हालांकि, भविष्य में यह बढ़ोतरी कम होने का अनुमान लगाया गया है। देश ने 2005 के स्तर की तुलना में 2030 तक ''उत्सर्जन तीव्रता'' में 33-35% कटौती करने का संकल्प लिया है। नवीकरणीय/अक्षय ऊर्जा उत्पादन में आई तेज़ी से पारंपरिक ईंधनों से बिजली उत्पादन करने की दर 2019 में घटी है।

भविष्य में अधिक से अधिक संख्या में उपभोक्ता अपने लिए बिजली उत्पादन किया करेंगे और वे उपभोक्ता यानी कंज़्यूमर से प्रोज़्यूमर यानी उत्पादक व उपभोक्ता बन जाएंगे। इलेक्ट्रिक व्हीकल, नवीकरणनीय ऊर्जा, व्यावसायिक या घरेलू बिजली भंडारण और हीट पंप जैसी कम कार्बन टेक्नोलॉजी से हमारे शहरों व कस्बों की वायु गुणवत्ता में क्रांतिकारी परिवर्तन आने वाला है।

टाटा पावर-डीडीएल इस क्रांति को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है और साथ ही इसे संभवत निम्नतम दर पर रखकर अपने उपभोक्ताओं का ध्यान भी रखना चाहती है।

स्मार्ट ग्रिड की पांच मुख्य टेक्नोलॉजी प्राथमिकता निम्नलिखित हैं:

  • स्मार्ट मीटरिंग ईकोसिस्टम
  • एडवांस्ड कम्युनिकेशंस सिस्टम
  • डिस्ट्रिब्यूशन एनर्जी रिसोर्सेज़द्ध इंटीग्रेशन (डीईआर)
  • पीयर-टू-पीयर एनर्जी ट्रेडिंग सिस्टम
  • इलेक्ट्रिक वाहन तैयार करना और उनके उपयोग को बढ़ावा देना

निगरानी व नियंत्रण

हमारे जटिल नेटवर्कों के प्रबंधन और उन्हें दक्ष बनाने के लिए हम बेहद परिष्कृत तरीके विकसित कर रहे हैं जिससे हम नेटवर्कों से मिलने वाले डेटा का विश्लेषण कर सकें।

2020 से 2024 तक स्मार्ट ग्रिड डेटा एनालिटिक्स बाज़ार में 25% बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। आधुनिक औद्योगिक व्यवस्था में डेटा एनालिटिक्स/विश्लेषण बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

टाटा पावर-डीडीएल उत्तर व उत्तर-पश्चिम दिल्ली में अपने 70 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली आपूर्ति करने के लिए प्रतिबद्ध है। हम पक्षधारक केंद्रित आईटी व ओटी और स्मार्ट ग्रिड गतिविधियां करते हैं।

टाटा पावर-डीडीएल कई टेक्नोलॉजी पार्टनरों के साथ मिलकर डिस्ट्रिब्यूटेड एनर्जी रिसोर्स इंटीग्रेशन, पर काम कर रही है जिससे पीक लोड का बेहतर प्रबंधन और विश्वसनीय बिजली की आपूर्ति की संभव हो सके।

टाटा पावर-डीडीएल वहनीयता लक्ष्यों के लिए प्रतिबद्ध है और आरपीओ व कई अन्य स्वच्छ ऊर्जा गतिविधियों के ज़रिए अपने कार्बन फुटप्रिंट्स घटाने की दिशा में निरंतर कार्यरत है।.

इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स पर बढ़ती निर्भरता के बीच किसी भी संगठन के परिचालन के लिए महत्वपूर्ण जानकारी को सुरक्षित रखना बहुत आवश्यक हो जाता है।

टाटा पावर-डीडीएल को कस्टमर डिलाइट व हैप्पीनेस इंडेक्स में 96 का असाधारण स्कोर मिला है। हमारी सभी गतिविधियों के पीछे की प्रेरणा उपभोक्ताओं की सुविधा होती है।

Helped impacted people by providing meals

Efforts by volunteers to ensure no one goes hungry

Awareness drive by volunteers

Mobile dispensary for mask distribution

Meal distribution at relied centers

Meal distribution with the help of ABHAs

Volunteers helping with food packet distribution

स्मार्ट ग्रिड क्या होती है?

स्मार्ट अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें ग्रिड, एक साइलो में परिचालन करने वाली सभी टेक्नोलॉजीज़ के इंटीग्रेशन, ऑटोमेशन और रियल टाइम कम्युनिकेशन में सशक्त बनाती है जिससे इलेक्ट्रिक ग्रिड का बेहतर ढंग से परिचालन किया जा सके। इसमें बिजली उत्पादन, ट्रांसमिशन से लेकर बिजली वितरण तक सभी शामिल हैं।

स्मार्ट ग्रिड क्या करती है?

आज के समय में बिजली आपूर्ति में बाधा जैसे ब्लैकआउट के दूरगामी प्रभाव हो सकते हैं- जिससे बैंकिंग, कम्युनिकेशंस, ट्रैफिक व सिक्योरिटी प्रभावित होने की एक सीरीज़ शुरू हो सकती है। स्मार्ट ग्रिड से इलेक्ट्रिक पावर सिस्टम को मज़बूती मिलेगी और वह ऐसी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए बेहतर तैयार होगी।

रियल टाइम में दो-तरफा कम्युनिकेशन ही स्मार्ट ग्रिड टेक्नोलॉजी की टोन होती है जो विभिन्न वितरित उत्पादन स्रोतों से पूर्वानुमान लगाना, शेड्यूलिंग को अनुकूल करना जैसी गतिविधियां संभव बनाती है। डिस्ट्रिब्यूशन के बारे में बात करें तो बिजली की आवश्यकता को बेहतर बनाना, नेटवर्क आकार को बेहतर करना, आउटेज की जानकारी व बिजली आपूर्ति की बहाली करना और उपभोक्ताओं से जुड़ने में मदद करना। हर साल इसका आकार बढ़ाना जिससे इसकी मदद व यूटिलिटी की विभिन्न गतिविधियों में सुधार के लिए नए ऐप्लिकेशंस जोड़े जा सकें और यही बात 'स्मार्ट ग्रिड' को सुनिश्चित करती है। एक स्मार्ट ग्रिड डिमांड के बेहतर प्रबंधन की ऐप्लिकेशंस को अनुमति देगी जो अनिवार्य रूप से वितरित उत्पादन का विस्तार करती हैं और यूटिलिटी ऑपरेटर की रियल टाइम जानकारी देकर- एक दिन पहले या लंबी अवधि के लिए संसाधन उपयोग योजना बनाने में मदद करती हैं।

अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्…

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने हैं?

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें है…

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्…

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने हैं?

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने है…

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

ऊर्जा संकट: यूरोपियन यूनियन में गैस और बिजली की महंगाई का शिकार बन सकती है ग्रीन डील

ईयू देशों के वित्त मंत्री अगले सोमवार को गैस और बिजली की महंगाई पर बातचीत करेंगे। अगले मंगलवार और बुधवार को इस मसले पर यूरोपियन संसद में बहस होगी। ईयू के आर्थिक आयुक्त पाओलो जेनतिलोनी ने अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें कहा है कि मौजूदा संकट का संदेश है कि हमें फौरी जरूरत और दीर्घकालिक लक्ष्य के बीच संतुलन बनाना होगा.

यूरोपीय संघ

यूरोप में गैस और बिजली की बढ़ रही कीमत का असर यूरोपियन यूनियन (ईयू) के प्रस्तावित ग्रीन डील (पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रम) पर पड़ सकता है। इसके खिलाफ विरोध भाव बढ़ने के संकेत हैं। अगले हफ्ते यूरो जोन के वित्त मंत्रियों की बैठक में इसके साफ संकेत मिल सकते हैं। ग्रीन डील के तहत ये लक्ष्य रखा गया है कि पूरे ईयू क्षेत्र में 2050 तक कार्बन उत्सर्जन को शून्य कर दिया जाएगा। कार्बन उत्सर्जन और जीवाश्म ऊर्जा (फॉसिल फ्यूल) पर अभी से टैक्स बढ़ाया जाने लगा है। लेकिन अब आशंका पैदा हुई है कि अभी जो ऊर्जा संकट पैदा हुआ है, उससे ग्रीन डील के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

फिनलैंड की वित्त मंत्री अनिका सारिको ने बीते सोमवार को कहा कि हम जलवायु संबंधी अपने लक्ष्यों को भूल नहीं सकते। लेकिन वहां तक पहुंचने का रास्ता आसान नहीं है। नीदरलैंड्स के ट्रेडिंग सेंटर में प्राकृतिक गैस की कीमत सोमवार को 92 यूरोप प्रति घंटे तक पहुंच गई। वहां चलने वाली वाली दर पूरे यूरो क्षेत्र में एक तरह का पैमाना समझा जाता है। प्राकृतिक गैस की कीमत बढ़ने का असर बिजली बिल पर भी पड़ रहा है।

ईयू देशों के वित्त मंत्री अगले सोमवार को गैस और बिजली की महंगाई पर बातचीत करेंगे। अगले मंगलवार और बुधवार को इस मसले पर यूरोपियन संसद में बहस होगी। ईयू के आर्थिक आयुक्त पाओलो जेनतिलोनी ने कहा है कि मौजूदा संकट का संदेश है कि हमें फौरी जरूरत और दीर्घकालिक लक्ष्य के बीच संतुलन बनाना होगा। इसका एक उपाय यह भी हो सकता है कि ग्रीन ऊर्जा को अपनाने की गति तेज की जाए। यूरोपीय आयोग के अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें उपाध्यक्ष वाल्दिस डोमब्रोव्स्किस ने कहा है- इस संकट से ये जरूरत और ज्यादा महसूस हुई है कि पेट्रोलियम और गैस पर निर्भरता जल्द से जल्द घटाई जाए।

लेकिन ईयू के कई सदस्य देशों में गैस निकालने की रफ्तार तेज करने का फैसला किया गया है। नॉर्वे की सबसे बड़ी गैस निर्यातक कंपनी एक्विनोर ने ज्यादा मात्रा में गैस निकालना शुरू भी कर दिया है। इस बीच कई देशों से ये मांग उठी है कि इस मामले में ईयू एक साझा कदम उठाए। स्पेन की वित्त मंत्री नाडिया कालविनो सांतामारिया ने कहा है कि बिजली की महंगाई के कारण स्पेन के लिए ये मसला प्राथमिकता में सबसे ऊपर हो गया है। इसलिए ईयू के एजेंडे पर इसे लाया जाएगा।

स्पेन सरकार ने प्रस्ताव रखा है कि रूस की गैस सप्लायर कंपनी गैजप्रोम से ईयू सीधे गैस की खरीदारी करे। उसके मुताबिक अलग-अलग देशों के अपना सौदा करने से इस कंपनी को महंगी दरों पर गैस बेचने का मौका अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें मिल रहा है। फ्रांस सरकार ने एक असाधारण कदम उठाते हुए देश में गैस की कीमत बढ़ाने पर रोक लगा दी है। इससे कंपनियों को बढ़ी कीमतों का बोझ खुद उठाना पड़ रहा है।

उधर, ग्रीस ने ईयू से मांग की है कि उसने उत्सर्जन ट्रेडिंग सिस्टम के तहत जो राजस्व इकट्ठा किया है, उसका कुछ हिस्सा वह तुरंत सदस्य देशों को लौटा दे, ताकि वे ऊर्जा की महंगाई का मुकाबला कर सकें। लेकिन यूरोपीय आयोग और ईयू के कुछ सदस्य देश इस सिस्टम में किसी छेड़छाड़ के खिलाफ हैं।

विस्तार

यूरोप में गैस और बिजली की बढ़ रही कीमत का असर यूरोपियन यूनियन (ईयू) के प्रस्तावित ग्रीन डील (पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रम) पर पड़ सकता है। इसके खिलाफ विरोध भाव बढ़ने के संकेत हैं। अगले हफ्ते यूरो जोन के वित्त मंत्रियों की बैठक में इसके साफ संकेत मिल सकते हैं। ग्रीन डील के तहत ये लक्ष्य रखा गया है कि पूरे ईयू क्षेत्र में 2050 तक कार्बन उत्सर्जन को शून्य कर दिया जाएगा। कार्बन उत्सर्जन और जीवाश्म ऊर्जा (फॉसिल फ्यूल) पर अभी से टैक्स बढ़ाया जाने लगा है। लेकिन अब आशंका पैदा हुई है कि अभी जो ऊर्जा संकट पैदा हुआ है, उससे ग्रीन डील के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

फिनलैंड की वित्त मंत्री अनिका सारिको ने बीते सोमवार को कहा कि हम जलवायु संबंधी अपने लक्ष्यों को भूल नहीं सकते। लेकिन वहां तक पहुंचने का रास्ता आसान नहीं है। नीदरलैंड्स के ट्रेडिंग सेंटर में प्राकृतिक गैस की कीमत सोमवार को 92 यूरोप प्रति घंटे तक पहुंच गई। वहां चलने वाली वाली दर पूरे यूरो क्षेत्र में एक तरह का अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें पैमाना समझा जाता है। प्राकृतिक गैस की कीमत बढ़ने का असर बिजली बिल पर भी पड़ रहा है।

ईयू देशों के वित्त मंत्री अगले सोमवार को गैस और बिजली की महंगाई पर बातचीत करेंगे। अगले मंगलवार और बुधवार को इस मसले पर यूरोपियन संसद में बहस होगी। ईयू के आर्थिक आयुक्त पाओलो जेनतिलोनी ने कहा है कि मौजूदा संकट का संदेश है कि हमें फौरी जरूरत और दीर्घकालिक लक्ष्य के बीच संतुलन बनाना होगा। इसका एक उपाय यह भी हो सकता है कि ग्रीन ऊर्जा को अपनाने की गति तेज की जाए। यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष वाल्दिस डोमब्रोव्स्किस ने कहा है- इस संकट से ये जरूरत और ज्यादा महसूस हुई है कि पेट्रोलियम और गैस पर निर्भरता जल्द से जल्द घटाई जाए।

लेकिन ईयू के कई सदस्य देशों में गैस निकालने की रफ्तार तेज करने का फैसला किया गया है। नॉर्वे की सबसे बड़ी गैस निर्यातक कंपनी एक्विनोर ने ज्यादा मात्रा में गैस निकालना शुरू भी कर दिया है। इस बीच कई देशों से ये मांग उठी है कि इस मामले में ईयू एक साझा कदम उठाए। स्पेन की वित्त मंत्री नाडिया कालविनो सांतामारिया ने कहा है कि बिजली की महंगाई के कारण स्पेन के लिए ये मसला प्राथमिकता में सबसे ऊपर हो गया है। इसलिए ईयू के एजेंडे पर इसे लाया जाएगा।

स्पेन सरकार ने प्रस्ताव रखा है कि रूस की गैस सप्लायर कंपनी गैजप्रोम से ईयू सीधे गैस की खरीदारी करे। उसके मुताबिक अलग-अलग देशों के अपना सौदा करने से इस कंपनी को महंगी दरों पर गैस बेचने का मौका मिल रहा है। फ्रांस सरकार ने एक असाधारण कदम उठाते हुए देश में गैस की कीमत बढ़ाने पर रोक लगा दी है। इससे कंपनियों को बढ़ी कीमतों का बोझ खुद उठाना पड़ रहा है।

उधर, ग्रीस ने ईयू से मांग की है कि उसने उत्सर्जन ट्रेडिंग सिस्टम के तहत जो राजस्व इकट्ठा किया है, उसका कुछ हिस्सा वह तुरंत सदस्य देशों को लौटा अभी ट्रेडिंग सिस्टम बनाना शुरू करें दे, ताकि वे ऊर्जा की महंगाई का मुकाबला कर सकें। लेकिन यूरोपीय आयोग और ईयू के कुछ सदस्य देश इस सिस्टम में किसी छेड़छाड़ के खिलाफ हैं।

रेटिंग: 4.27
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 729
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *