फॉरेक्स ट्रेडिंग

आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है

आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है

निजता नोटिस

Read Along के इस निजता नोटिस का मकसद, अभिभावकों को यह समझने में मदद करना है कि ऐप्लिकेशन कौनसा डेटा इकट्ठा करता है और हम उस डेटा का इस्तेमाल कैसे करते हैं. इस नोटिस में, निजता लागू करने की हमारी उन प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी दी गई है जिन्हें खास तौर पर, Read Along के उपयोगकर्ताओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है. साथ ही, इसमें Google निजता नीति की उन बातों को शामिल किया गया है जो काम की हैं. Read Along, साइन आउट करके इस्तेमाल की जाने वाली सेवा के तौर पर काम करता है. इसका मतलब है कि हम आपके बच्चे को साइन इन करने की अनुमति नहीं देते हैं. साथ ही, ऐप्लिकेशन काम कर सके, इसके लिए आपको अपने Google खाते का इस्तेमाल करने की ज़रूरत नहीं होगी.

हम यह जानकारी इकट्ठा करते हैं

Google इस आधार पर जानकारी इकट्ठा करता है कि आपके बच्चे, ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल कब और किस तरह कर रहे हैं. जैसे, किताब पढ़ना. इस जानकारी में शामिल हैं:

लॉग की जानकारी, जिसमें हमारी सेवा के इस्तेमाल के तरीके से जुड़े आंकड़े, डिवाइस इवेंट की जानकारी, और डिवाइस के इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) पते की जानकारी शामिल है;

आपके डिवाइस के आईपी पते के आधार पर, जगह की सामान्य जानकारी, जैसे कि शहर या राज्य; और

एक यूनीक आइडेंटिफ़ायर, जिसका इस्तेमाल ऐप्लिकेशन या डिवाइस के बारे में जानकारी इकट्ठा और स्टोर करने के लिए किया जाता है, जैसे कि पसंदीदा भाषा, पढ़ने और खोजने का इतिहास, और अन्य सेटिंग.

आपके बच्चे की जानकारी इकट्ठा और स्टोर करने के लिए, हम कई तरह की तकनीकों का इस्तेमाल करते हैं. इनमें, कुकी या इससे मिलते-जुलते और तरीके शामिल हैं. कुकी या इससे मिलते-जुलते और तरीकों के ज़रिए इकट्ठा की गई जानकारी का इस्तेमाल, नीचे बताए गए कामों के लिए किया जाता है. इस जानकारी को हर उपयोगकर्ता के हिसाब से, 120 दिन तक हमारे सर्वर पर स्टोर करके रखा जाता है.

अगर उपयोगकर्ता ऐप्लिकेशन में कोई फ़ोटो जोड़ते हैं या अभिभावक अपने बच्चे के लिए अलग प्रोफ़ाइल सेट अप करते हैं, तो ऐप्लिकेशन ऐसे उपयोगकर्ताओं की इमेज भी इकट्ठा करता है. साथ ही, ऐप्लिकेशन में डाला गया उपयोगकर्ता का नाम या उपनाम भी सेव किया जाता है. इसके अलावा, यह ऐप्लिकेशन आवाज़ का डेटा भी इकट्ठा करता है. इमेज और आवाज़, दोनों का डेटा उपयोगकर्ता के डिवाइस पर ही प्रोसेस होता है. उपयोगकर्ता की निजता की सुरक्षा के लिए, इसे Google के साथ शेयर नहीं किया जाता. इमेज, डिवाइस में ही स्टोर कर ली जाती हैं और प्रोसेस होने के बाद आवाज़ के डेटा को कहीं भी स्टोर नहीं किया जाता.

हम इकट्ठा की गई जानकारी को कैसे इस्तेमाल करते हैं

इकट्ठा की गई जानकारी का इस्तेमाल, Google अपनी अंदरूनी कार्रवाइयों के लिए करता है. जैसे, स्पैम या बुरे बर्ताव को रोकना, कॉन्टेंट के लाइसेंस से जुड़े प्रतिबंधों को लागू करना, पसंदीदा भाषा का पता लगाना, ऐप्लिकेशन के इस्तेमाल का विश्लेषण करना. इसके अलावा, सेवाएं देने, उनका रखरखाव करने, और उनको बेहतर बनाने के लिए भी इस जानकारी का इस्तेमाल किया जाता है.

उपयोगकर्ता के डिवाइस पर मौजूद एक प्रोसेसिंग मॉडल के आधार पर Google, उपयोगकर्ताओं को उनके मुताबिक किताबों के सुझाव भी देता है. सुझाई गई किताबों का आईडी Google को भेजा जाता है, ताकि यह पक्का किया जा सके कि उपयोगकर्ता के डिवाइस पर मौजूद सुझाव इंजन, सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं. यह इस आधार पर तय होता है कि किताब को खोलकर पढ़ा गया है या नहीं.

Google, शिक्षकों और एडमिन के लिए एक ऐसा तरीका भी उपलब्ध कराता है जिससे वे अलग-अलग ग्रुप बना सकते हैं. ऐसे ग्रुप में, कई बच्चे अपने शिक्षक के साथ जानकारी शेयर कर सकते हैं. जैसे, वे कौनसी किताबें पढ़ रहे हैं, वे कैसा प्रदर्शन कर रहे हैं, वे कितने मिनट तक पढ़ रहे हैं, और ऐप्लिकेशन में उनका उपनाम क्या है. इससे शिक्षक को, आपके बच्चे और अन्य बच्चों को रोज़ाना पढ़ने का अभ्यास करने के लिए गाइड करने की में मदद मिलती है.

Google, आपके बच्चे को तीसरे पक्षों के साथ निजी जानकारी शेयर करने या इसे सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध कराने की अनुमति नहीं देता है. अगर आपको अपने डिवाइस पर Read Along ऐप्लिकेशन में इकट्ठा किए गए डेटा को रिव्यू करना है और/या उसमें से किसी डेटा को मिटाना है, तो आपके पास Read Along ऐप्लिकेशन को मिटा कर ऐसा करने का विकल्प है. इसके अलावा, अपने ऑपरेटिंग सिस्टम की उस सुविधा का इस्तेमाल भी किया जा सकता है जिससे किसी ऐप्लिकेशन का डेटा मिटाया जा सकता है.

हम यह जानकारी शेयर करते हैं

Google, उपयोगकर्ता की निजी जानकारी को तब तक Google से बाहर ज़ाहिर नहीं करेगा, जब तक इनमें से कोई स्थिति लागू न हो रही हो:

सहमति से

Google, बाहर की कंपनियों, संगठनों या व्यक्तियों के साथ निजी जानकारी तब शेयर करेगा, जब अभिभावक की सहमति हो.

कानूनी वजहों से

हम Google के अलावा, दूसरी कंपनियों, संगठनों या व्यक्तियों के साथ निजी जानकारी तब शेयर करेंगे, जब हमें भरोसा हो कि जानकारी किसी गलत काम के लिए नहीं मांगी जा रही. साथ ही, यह भी भरोसा हो कि उस जानकारी का ऐक्सेस, इस्तेमाल, रखरखाव या उसे ज़ाहिर करना, इन कामों के लिए ज़रूरी है:

किसी भी लागू होने वाले कानून, नियम, कानूनी प्रक्रिया या लागू होने वाले सरकारी अनुरोधों को पूरा करने के लिए.

संभावित उल्लंघनों की जांच सहित लागू होने वाली सेवा की शर्तें लागू करें.

धोखाधड़ी, सुरक्षा या प्रौद्योगिकी आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है समस्या का पता लगाएं, उसे रोकें या उसका समाधान करें.

ज़रूरी होने पर या कानून की अनुमति के हिसाब से, Google, हमारे उपयोगकर्ताओं या आम लोगों के अधिकारों, संपत्ति या सुरक्षा को किसी तरह के नुकसान से बचाने के लिए.

बाहरी प्रोसेसिंग के लिए

Google अपनी सहयोगी कंपनियों या दूसरे भरोसेमंद कारोबारों या लोगों को आपकी निजी जानकारी इसलिए देता है, ताकि वे उसे हमारे लिए प्रोसेस कर सकें. प्रोसेस करने का यह काम हमारे निर्देशों, निजता नीति, गोपनीयता, और सुरक्षा से जुड़ी अन्य प्रक्रियाओं का पालन करते हुए किया जाता है.

Google किसी खास मकसद से ऐप्लिकेशन के इस्तेमाल के बारे में पूरी जानकारी तीसरे पक्षों के साथ शेयर कर सकता है. उदाहरण के तौर पर, ऐप्लिकेशन के इस्तेमाल से जुड़े रुझान दिखाने के लिए या पार्टनर के साथ हमारी रिपोर्टिंग की जवाबदेही को पूरा करने के लिए.

विरोधी शर्तों की जानकारी

अगर ऐसी शर्तें हैं जो निजता नोटिस और Google निजता नीति में अलग-अलग हैं, तो Google निजता नीति के बजाय, निजता नोटिस को प्राथमिकता दी जाएगी.

सेवा देने वाली कंपनी

Read Along ऐप्लिकेशन की सेवा देने वाली कंपनी:

1600 Amphitheatre Parkway, Mountain View, CA 94043 USA

फ़ोन: +1 650-253-0000

ईईए और स्विट्ज़रलैंड में:

Google Ireland Limited

Gordon House, Barrow Street, Dublin 4

Republic of Ireland

हमसे संपर्क करें

अभिभावक अपने किसी भी सवाल या चिंता के बारे में, हमसे सीधे इस ईमेल पते पर संपर्क कर सकते हैं:

टाइफाइड बुखार के लक्षण

टाइफाइड एक गंभीर बीमारी है, यह साल्मोनेला एन्टेरिका सेरोटाइप टाइफी बैक्टीरिया से होता है! यह साल्मोनेला पैराटाइफी बैक्टीरियम से भी फैलता है! यह बैक्टीरिया पानी और खाने के जरिए लोगों के अन्दर जाता है और इसके द्वारा बहुत से लोगों में यह फ़ैल जाता है!

टाइफाइड को दूषित पानी या भोजन को जीतने वाले बैक्टीरिया को पीने या खाने से अनुबंधित किया जाता है। तीव्र बीमारी वाले लोग मल के माध्यम से आसपास के पानी की आपूर्ति को संभावित रूप से दूषित कर सकते हैं, क्योंकि इसमें बैक्टीरिया की उच्च एकाग्रता होती है। बैक्टीरिया पानी या सूखे सीवेज में हफ्तों तक जीवित रह सकते हैं।

टाइफाइड के लिए ऊष्मायन अवधि लगभग 1-2 सप्ताह है और बीमारी लगभग 3-4 सप्ताह तक रहती है। टाइफाइड के लक्षणों में शामिल हैं:

  • सरदर्द
  • आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है
  • १०४ डिग्री तक बुखार
  • शरीर में दर्द
  • बिगड़ी हुयी भूख
  • जी मिचलाना
  • दस्त और कब्ज
  • पेट दर्द
  • कफ

अगर समय पर इसका इलाज किया जाए तो इसके लक्षण ३ से ५ दिन में ठीक किये जा सकते हैं, हालांकि, यह आमतौर पर कुछ हफ्तों के दौरान खराब हो सकता है, और कुछ मामलों में टाइफाइड बुखार के विकास की जटिलता एक महत्वपूर्ण जोखिम है। कई लोगों को सीने में जमाव और पेट में दर्द का भी अनुभव होता है। बुखार स्थिर हो जाता है। जटिलताओं के बिना मामलों में तीसरे और चौथे सप्ताह में सुधार देखा जा सकता है। लगभग 10% लोगों में एक से दो सप्ताह तक बेहतर महसूस करने के बाद भी बार-बार लक्षण होते हैं। एंटीबायोटिक दवाओं के साथ इलाज किए गए लोगों में रिलैप्स अधिक आम हैं।

टाइफाइड यदि समय पर पता न चले तो स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं और इसलिए जैसा कि वे कहते हैं कि रोकथाम इलाज से बेहतर है ’टाइफाइड फैलाने वाले वायरस से अप्रभावित रहने के लिए आदिम उपायों से सुरक्षित रहना बेहतर है।पहले स्थान पर टाइफाइड को रोकने के लिए, आपको निम्नलिखित कार्य करने होंगे:

  • टीकाकरण: दो टीकाकरण उपलब्ध हैं जो टाइफाइड से सुरक्षा प्रदान करते हैं। टीकाकरण के सही पाठ्यक्रम के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।
  • खाद्यसुरक्षा: उबला हुआ, बोतलबंद या रासायनिक रूप से कीटाणुरहित पानी पीना: जब तक इसे पहले उबाला नहीं गया है, पीने से बचें, भोजन को धोने या नल के पानी से अपने दाँत ब्रश करने से बचें। जहां संभव हो या रासायनिक रूप से कीटाणुरहित किया गया बोतलबंद पानी पिएं। बिना पके भोजन से बचें। सुनिश्चित करें कि जो भी भोजन आप खाते हैं, वह किसी भी हानिकारक कीटाणुओं को नष्ट करने के लिए अच्छी तरह से पकाया जाता है।
  • स्वच्छतासुनिश्चितकरें: हमेशा यह सुनिश्चित करें कि आप अपने व्यक्तिगत सामान, घर और आस-पास को स्वच्छ रखें ताकि टायफायड के बैक्टीरिया से संपर्क से बचने के लिए डेटॉल कीटाणुनाशक तरल का उपयोग किया जा सके।

हाथ की अच्छी स्वच्छता रखें: अपने हाथों को नियमित रूप से रोगाणु संरक्षण हैंडवॉश या डेटॉल बार साबुन जैसे रोगाणु सुरक्षा समाधान से धोना याद रखें।

छोटी-छोटी झपकियां लेना स्वास्थ्य के लिए है फायदेमंद, जानिए कैसे

छोटी-छोटी झपकियां लेना स्वास्थ्य के लिए है फायदेमंद, जानिए कैसे

जिस प्रकार से पर्याप्त मात्रा में नींद लेना स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद होता है ठीक उसी प्रकार से पूरे दिन में आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है कुछ मिनट झपकी लेना भी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है। दरअसल, पूरे दिन में एक छोटी सी झपकी लेने भर से न सिर्फ आपको आराम मिलता है बल्कि आपको अंदरूनी ताकत देने में भी काफी मदद करती है। चलिए फिर जानते हैं कुछ मिनट झपकी लेने से स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है।

नियमित रूप से दिन में 20-30 मिनट के लिए एक झपकी लेने से सीखे गए तथ्यों को याद रखना आसान हो जाता है क्योंकि इसके कारण दिमाग शांत रहता है जिससे स्मरण शक्ति पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जर्मन न्यूरोपैसाइकोलॉजिस्ट की एक टीम द्वारा किए गए एक अध्ययन में पता चला है कि अगर कोई व्यक्ति किसी नई जानकारी को सीखने के बाद झपकी लेता है तो उस व्यक्ति की याद करने की संभावना पांच गुना अधिक हो जाती है।

तनाव एक घातक मानसिक विकार है क्योंकि यह रक्तचाप को बढ़ाता है जो हृदय रोगों का कारण बन सकता है। इसलिए अगर आपको लगता है कि आप तनाव से ग्रस्त हैं तो इसके प्रभाव को कम करने के लिए नियमित तौर पर कुछ मिनट झपकी लेना एक विचार साबित हो सकता है। शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि इस प्रक्रिया में रक्तचाप को नियंत्रित करने के साथ-साथ तनाव को धीरे-धीरे कम करने में भी मदद मिल सकती है।

जब भी लोग थकान महसूस करते हैं तो उनके हिसाब से एक कप कॉफी का सेवन उनकी थकान को कुछ ही मिनट में दूर कर सकता है। हालांकि कॉफी से ऐसा मुमकिन है इसलिए उसे एनर्जी बूस्टर कहा जाता है लेकिन कॉफी कैफिन युक्त होती है जिसका स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है। इसलिए जब भी आप थकान महसूस करें तो कॉफी के बजाए कुछ मिनट की झपकी लें। यकीनन इसका असर आप पर सकारात्मक रूप से पड़ेगा।

अगर आप अपने किसी भी काम पर ठीक से ध्यान नहीं दे पा रहे हैं तो इस स्थिति से छुटकारा पाने के लिए कुछ मिनट झपकी लेना आपके लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले के एक अध्ययन में पाया गया है कि हम जितने ज्यादा घंटे जागते हैं हमारा दिमाग उतने ही सुस्त होता चला जाता है। इसलिए अपनी एकाग्रता क्षमता को मजबूत करने के लिए रोजाना 20-30 मिनट झपकी जरूर लें।

शरीर ताकतवर होता है इन घरेलू उपायों से, जरूर देखें आजमा कर

किसी भी काम को करने के लिए शरीर को ताकत और ऊर्जा की जरूरत होती है। अब भले ही वह पुरुष हो या महिला, किसी की शारीरिक ताकत के लिए उसकी जीवनशैली, आहार और काम करने का तरीका मायने रखता है। कई.

शरीर ताकतवर होता है इन घरेलू उपायों से, जरूर देखें आजमा कर

Anuradha Thu, 30 Jan 2020 11:39 AM

किसी भी काम को करने के लिए आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है शरीर को ताकत और ऊर्जा की जरूरत होती है। अब भले ही वह पुरुष हो या महिला, किसी की शारीरिक ताकत के लिए उसकी जीवनशैली, आहार और काम करने का तरीका मायने रखता है। कई लोगों की रोगों से लड़ने की क्षमता बहुत कमजोर होती है तो कई लोग ऐसे होते आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है हैं जो कि गंभीर बीमारियों में भी ताकत बनाए रखते हैं। शरीर की ताकत और ऊर्जा बढ़ाने के लिए दुकानों पर कई किस्म की दवाइयां या एनर्जी ड्रिंक मिलते हैं, लेकिन ताकतवर बनने के लिए किसी भी तरह के सप्लीमेंट्स लेने की बजाए प्राकृतिक और स्वाभाविक रूप से उपाय करेंगे तो फायदेमंद रहेगा और कोई नुकसान नहीं होगा।

www.myUpchar.com से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि किसी भी व्यक्ति के शारीरिक बल की क्षमता को ताकत कहा जाता है और शारीरिक ताकत हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। इन उपायों को अपनाकर ताकत को आसानी से बढ़ाया जा सकता है।

सही आहार : ताकत के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप क्या खाते हैं? कैसा आहार लेते हैं? यदि आपके आहार में विटामिन, मिनरल्स, कैल्शियम और प्रोटीन जैसी चीजों की कमी है तो आपको अपने आहार में बदलाव करना जरूरी है। आहार में हरी सब्जियां और फलों को अधिक से अधिक शामिल करना चाहिए। साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करना चाहिए। ताकत बढ़ाने के लिए नाश्ता करना बहुत जरूरी है। तीन घंटे के अंतराल में दिनभर थोड़े-थोड़े समय में कुछ खाते रहें। इससे मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और जितना खाते हैं उससे शक्ति मिलती रहती है।

भरपूर पानी पिएं : ज्यादा पसीना निकलने के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है। इससे थकान की स्थिति पैदा होती है। इसलिए शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पिएं।

शारीरिक गतिविधियों में सक्रिय रहे : अगर आप सोचते हैं कि शारीरिक रूप से सक्रिय रहने का मतलब जिम जाना है या ज्यादा वर्कआउट करना है तो ऐसा नहीं है। सुबह या शाम के समय टहलने की आदत डालें। कोई शारीरिक गतिविधि के लिए बैडमिंटन, फुटबॉल, स्विमिंग जैसे खेल सकते हैं। चाहें तो डांस को भी अपनी जीवनशैली में जोड़ लें। इन गतिविधियों से फिट रहेंगे। इससे शरीर में कमजोरी महसूस नहीं होगी और ऊर्जावान महसूस करेंगे।

सीढ़ियों का प्रयोग करें : अगर आप लिफ्ट में ही आते-जाते हैं तो इस आदत को थोड़ा बदल लें। लिफ्ट की बजाए जहां तक हो सके सीढ़ियों का इस्तेमाल करें। ताकत बढ़ाने के लिए यह सबसे आसान तरीका है। धीरे-धीरे आदत बनने पर शरीर की ताकत बढ़ने लगती है। मांसपेशियां मजबूत होती है और दिल पहले की अपेक्षा स्वस्थ रहता है।

योग को शामिल करें : योग तो सदियों से शारीरिक और मानसिक आपको अंदरूनी जानकारी कैसे मिलती है स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। योगासन से आंतरिक अंगों पर सकारात्मक असर पड़ता है। इससे ताकत के साथ शरीर का लचीलापन बढ़ता है।

बाहर का खाना खाने से बचें : बाहर का खाना बीमार तो करता ही है आपको सुस्त भी बनाता है। इससे ताकत कम होती है। फास्ट फूड आदि खाने से बचें।

रेटिंग: 4.89
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 619
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *