वायदा व्यापार

बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन

बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन
ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Mutual Funds Investment

म्यूचुअल फंड्स क्या हैं? – Mutual Funds kya hain?

म्यूचुअल फंड एक एैसा फंड है जो एैसेट मैनेजमेंट कंपनीस / कंपनीज (एएमसी) द्वारा मैनेज किया जाता है जिसमे ये कंपनीस कई इन्वेस्टर्स से पैसा जमा करती है और स्टॉक, बॉन्ड और शार्ट-टर्म डेट जैसी सिक्युरिटीज में पैसा इन्वेस्ट करती है।

म्यूचुअल फंड की कंबाइंड होल्डिंग्स को पोर्टफोलियो के रूप में जाना जाता है। इन्वेस्टर्स म्यूचुअल फंड के यूनिट्स खरीदते हैं। प्रत्येक यूनिट फंड में इन्वेस्टर के हिस्से के ओनरशिप और इससे होने वाली इनकम का रिप्रजेंटेशन करता है।

म्यूचुअल फंड इन्वेस्टर्स के बीच एक लोकप्रिय विकल्प (पॉपुलर ऑप्शन) हैं क्योंकि वे आम तौर पर निचे दिये गये विशेषताएं प्रदान करते हैं:

फंड प्रोफेशनल तरीके से मैनेज करते हैं:

फंड मैनेजर इन्वेस्टर्स के लिए रिसर्च करते हैं। वे सिक्युरिटीज का सिलेक्शन करते हैं और उनके परफॉरमेंस को मॉनिटर करते हैं।

म्यूचुअल फंड आमतौर पर कई कंपनियों और इंडस्ट्रीज में इन्वेस्ट करते हैं। यह एक कंपनी के फ़ैल होने पर इन्वेस्टर्स के रिस्क को कम करने में मदद करता है।

लिक्विडिटी (Liquidity)

इन्वेस्टर्स आसान तरीके से अपने यूनिट्स को किसी भी समय रिडीम कर सकतें हैं।

इन्वेस्टर्स के पास म्यूचुअल फंड में अपना पैसा लगाने और अपनी संपत्ति बढ़ाने के कई विकल्प हैं। उदाहरण के लिए, इक्विटी (Equity) फंड्स, बॉन्ड फंड्स (फिक्स्ड इनकम फंड्स), डेट फंडस या फिर फंड्स जिनमे दोनों में इन्वेस्ट किया जा सकता हो, याने :बैलेंस फंड्स।

इक्विटी: शेयर्स (कॉमन स्टॉक), म्युचुअल फंड (MF): किसी कंपनी के शेयर खरीदना।

  • इक्विटी शेयरस लिक्विडिटी प्रदान करता; आप इनके वैल्यू बढ़ने पर, इन्हे बेच कर पैसा कमा सकतें है। कैपिटल मार्केट में आसानी से बिकता हैं।
  • अधिक लाभ की स्थिति में इनसे हाई रेट पर प्रॉफिट प्राप्त होता है।
  • इक्विटी शेयर होल्डर्स को कंपनी के मैनेजमेंट को नियंत्रित करने का कलेक्टिव अधिकार देता ह।
  • इक्विटी शेयर होल्डर्स को दो तरह से लाभ मिलता है, वार्षिक डिविडेंट और शेयर होल्डर्स के इन्वेस्टमेंट पर उसके मूल्य में वृद्धि होने के कारन से होने वाला लाभ ।
  • इक्विटी शेयरस में हाईएस्ट रिस्क होता है।
  • म्युचुअल फंड (MF) इसके तुलना में कम रिस्की होता है।
  • बहुत सारे इन्वेस्टर्स का कलेक्टिव फंड, एसेट मैनेजिंग कंपनीज द्वारा, अलग अलग सेक्टर्स के कंपनीज के शेयर्स खरीदने के लिए इन्वेस्ट कर, इन्वेस्टर्स को लाभ दिलाने के उद्देश्य से किया जाता है।

Future Investment: डेट फंड दिलाएगा बेस्ट रिटर्न! पूरी तरह सुरक्षित रहेगा आपका पैसा रहेगा, ये हैं 4 बेनिफिट्स

Future Investment: अगर आप अभी से फ्यूचर की प्लानिंग करना चाहते हैं तो आपके लिए अच्छा मौका है. डेट फंड के जरिए आप फिक्स्ड डिपॉजिट बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन की तरह अच्छा रिटर्न पा सकते हैं.

Future investment: अगर आप भविष्य के लिए आज से ही फाइनेंशियल प्लानिंग (Financial Planning) शुरू करेंगे, तो आपके लिए बेहतर होगा. क्योंकि भविष्य में आने वाले खर्च बहुत बढ़ने वाले हैं. चाहें बात फिर घर खर्च की हो या फिर पढ़ाई और शादी के खर्च की. स्मॉल सेविंग्स के जरिए आप अभी से पैसा जोड़ सकते हैं. इसके लिए हम आपके लिए डेट फंड का ऑप्शन लेकर आए हैं. डेट फंड असल में म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) है. इसमें इन्वेस्टर्स बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) या फिर स्मॉल सेविंग्स स्कीम (Small Savings scheme) के अल्टरनेट के रूप में इन्वेस्ट कर सकते हैं. जैसे कि सरकारी सिक्योरिटी, कॉर्पोरेट बॉन्ड्स और ट्रेजरी बिल्स. फिक्स्ड डिपॉजिट का समय पूरा होते ही डेट फंड आपको FD रेट पर अच्छा खास रिटर्न देता है.

स्टेबल फंड्स

डेट फंड में रिटर्न आमतौर पर हमेशा एक जैसा रहता है. इसके रेट्स में मार्केट के चलते कभी बदलाव नहीं दिखता है. ऐसे में अगर आपको इन्वेस्ट करने में डर लग रहा है, तो ये आपके लिए सुरक्षित ऑप्शन है. वहीं अगर आप कुछ समय के लिए अपनी फाइनेंशियिल प्लानिंग करना चाहते हैं, तो Debt Funds बेस्ट है.

Debt Funds में आप Equity और म्यूचुअल फंड्स के मुकाबले कम पैसों से निवेश कर सकते हैं. अक्सर इन्वेस्टर्स डेट और म्यूचुअल फंड स्कीम्स को ही चुनते हैं, जिससे TDS पर कोई असर नहीं पड़ता है. हालांकि अगर आप फंड यूनिट को बेचते हैं, तो आपको इन्वेस्टमे्ंट के दौरान चैक्स देना पड़ेगा.

आमतौर पर ऐसी योजनाओं में इन्वेस्टर्स का पैसा सरकारी सिक्योरिटी, बॉन्ड और कॉर्पोरेट डिबेंचरों में लगाया जाता है. हालांकि, इस तरह के फंडों से इक्विटी फंडों (Equity Fund) के मुकाबले कम रिटर्न मिलता है.

कम जोखिम, बेस्ट रिटर्न

Debt Fund में अगर आप इन्वेस्ट करते हैं, तो आपको बेहतर रिटर्न मिलेगा. क्योंकि म्यूचअल फंड (Mutual Fund) में इन्वेस्टमेंट सबसे ज्यादा फायदा देने वाला बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन सौदा माना जाता है. ऐसा अक्सर होता है कि फिक्स्ड डिपॉजिट के मुकाबले डेट म्यूचुअल फंड में ज्यादा रिटर्न मिलता है.

Debt funds से मिलने वाला पैसा टैक्स के दायरे में आता है. डेट बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन फंड को 3 साल के बाद भुनाने पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (LTCG) लगता है. 3 साल बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन के पहले डेट म्यूचुअल फंड यूनिट्स को बेचने के बाद जो मुनाफा होता है, उसा शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स चुकाना पड़ता है.

Mutual Funds: 5 साल में पैसा ट्रिपल करने वाली 5 स्कीम, सालाना 28% तक मिल रहा है रिटर्न

Mutual Funds: 5 साल में पैसा ट्रिपल करने वाली 5 स्कीम, सालाना 28% तक मिल रहा है रिटर्न

इक्विटी म्यूचुअल फंड, शेयर बाजार में निवेश का एक सुरक्षित तरीका है. (File)

Best Equity Mutual Fund Scheme: बाजार में उठापठक के चलते इक्विटी म्यूचुअल फंड में भले ही शॉर्ट टर्म या 1 साल तक का रिटर्न बिगड़ा है, लेकिन लंबी अवधि के निवेशकों ने इसके जरिए अच्छा पैसा बनाया है. बीते 5 साल की बात करें तो कई म्यूचुअल फंड स्कीम ने निवेशकों का पैसा 3 गुना या इससे भी अधिक बढ़ा दिया है. असल में इक्विटी म्यूचुअल बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन फंड, शेयर बाजार में निवेश का एक सुरक्षित तरीका है. अगर निवेशक इक्विटी में निवेश करना चाहें, लेकिन उनकी रिस्क लेने की क्षमता ज्यादा नहीं है तो यह एक बेहतर विकल्प है. एडवाइजर म्यूचुअल फंड में रिस्क प्रोफाइल समझकर एक लक्ष्य तयकर लंबी अवधि के लिए निवेश की सलाह देते हैं. लंबी अवधि में निवेश के चलते इनमें कंपाउंडिंग का फायदा मिलता है. निवेशक एकमुश्त या सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए इसमें निवेश कर सकते हैं.

Tata Digital India Fund

5 साल में रिटर्न: 28% CAGR
5 साल में 1 लाख की वैल्यू: 3.45 लाख रुपये
5 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 11.56 लाख रुपये
कम से कम एकमुश्त निवेश: 5000 रुपये
कम से कम SIP: 150 रुपये
कुल एसेट्स: 5512 करोड़ (31 मई, 2022)
एक्सपेंस रेश्यो: 0.35% (30 अप्रैल, 2022)

Post Office TD: ये सरकारी स्‍कीम 10 लाख पर देगी 3.8 लाख ब्‍याज, 1 साल से 5 साल तक निवेश के हैं विकल्‍प

Best SIP for 5 Years Investment 2022: इस साल चुनें ये बेहतरीन एसआईपी, पांच साल में कमा सकते हैं बैंक एफडी से भी अधिक रिटर्न

Ujjivan Bank FD Interest Rate: उज्जीवन बैंक ने बढ़ाई एफडी दरें, 560 दिनों की FD पर मिलेगा 8.75% ब्याज

ICICI Pru Technology Fund

5 साल में रिटर्न: 27.5% CAGR
5 साल में 1 लाख की वैल्यू: 3.36 लाख रुपये
5 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 11.97 लाख रुपये
कम से कम एकमुश्त निवेश: 5000 रुपये
कम से कम SIP: 100 रुपये
कुल एसेट्स: 8772 करोड़ (31 मई, 2022)
एक्सपेंस रेश्यो: 0.71% (30 अप्रैल, 2022)

5 साल में रिटर्न: 26% CAGR
5 साल में 1 लाख की वैल्यू: 3.21 लाख रुपये
5 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 11.27 लाख रुपये
कम से कम एकमुश्त निवेश: 1000 रुपये
कम से कम SIP: 100 रुपये
कुल एसेट्स: 3028 करोड़ (31 मई, 2022)
एक्सपेंस रेश्यो: 0.70% (30 अप्रैल, 2022)

SBI Tech Opportunities Fund

5 साल में रिटर्न: 24.70% CAGR
5 साल में 1 लाख की वैल्यू: 3 लाख रुपये
5 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 11 लाख रुपये
कम से कम एकमुश्त निवेश: 1000 रुपये
कम से कम SIP: 500 रुपये
कुल एसेट्स: 2416 करोड़ (31 मई, 2022)
एक्सपेंस रेश्यो: 0.90% (30 अप्रैल, 2022)

5 साल में रिटर्न: 21.30% CAGR
5 साल में 1 लाख की वैल्यू: 2.65 लाख रुपये
5 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 12.15 लाख रुपये
कम से कम एकमुश्त निवेश: 5000 रुपये
कम से कम SIP: 1000 रुपये
कुल एसेट्स: 573 करोड़ (31 मई, 2022)
एक्सपेंस रेश्यो: 0.64% (31 मई, 2022)

Best SIP for 5 Years: लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए बेस्ट हैं ये एसआईपी, बैंक एफडी से भी बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन अधिक रिटर्न

म्यूचुअल फंड में निवेश किसी के कहने या फिर सुनी हुई बातों के आधार पर कतई ना करें.

म्यूचुअल फंड में निवेश किसी के कहने या फिर सुनी हुई बातों के आधार पर कतई ना करें.

बढ़ती मंहगाई में बैंक एफडी का रिटर्न अब फायदे का सौदा नहीं दिख रहा है. ऐसे बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन में निवेशक तेजी से Mutual Funds और Share Mar . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : January 18, 2022, 08:11 IST

Best SIP for 5 Years Investment 2022: बैंकों एफडी की कम ब्याज दर की वजह से निवेशक अब तेजी से दूसरे निवेश विकल्पों को देख रहे हैं. नए इंवेस्टमेंट ऑप्शन में म्यूचुअल फंड सबसे पसंदीदा विकल्पों में से एक बन रहा है. खासतौर से एसआईपी के जरिए लोग काफी संख्या में निवेश कर रहे हैं. बढ़ती मंहगाई में बैंक एफडी का रिटर्न अब फायदे का सौदा नहीं दिख रहा है. ऐसे में निवेशक तेजी से Mutual Funds और Share Market में पैसा लगा रहे हैं.

जो निवेशक कम जोखिम लेना चाहते हैं, उनके बीच डेट म्यूचुअल फंड लोकप्रिय है. नीचे फंड टाइप, रिस्क लेवल, एनएवी (नेट एसेट वैल्यू) और अनुमानित रिटर्न के हिसाब से इक्विटी और डेट म्यूचुअल फंड के कुछ ऐसे एसआईपी की जानकारी दी जा रही है जो पांच साल में आपके निवेश पर बेहतरीन रिटर्न दे सकते हैं.

किस तरह के फंड में निवेश करना चाहते हैं

एसआईपी म्यूचुअल फंड बहुत सारे प्रकार के होते हैं जैसे की इक्विटी फंड, डेब्ट फंड, मल्टी-कैप फंड, इंडेक्स फंड और लिक्विड फंड आदि. अब आपको यह तय करना होगा कि आप किस तरह के म्‍यूचुअल फंड पर बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन निवेश करना चाहते हो. जेसे की आप कही घूमने-फिरने के लिए कुछ फंड जमा करना चाहते हैं और उसके लिए शॉर्ट टर्म SIP शुरू कर रहे हैं तो आप लिक्विड फंड या डेब्ट फंड में निवेश कर सकते हैं. और अगर आप लॉन्‍ग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट करना चाहते हो तो उसके लिए आप इक्विटी या इंडेक्स म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते है.

अगर आप म्‍यूचुअल फंड में निवेश करने बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन का मन बना चुके हैं तो सबसे पहले आप बेस्‍ट म्‍यूचुअल फंड की दावेदारी करने वाले शीर्ष फंड्स की लिस्‍ट बनाएं. और उनकी तुलना करेंके देखें की आपकी जरूरतों को काैनसा फंड पूरा कर सकता है. उस फंड की हिस्‍ट्री, एक्‍सपेंस रेश्‍यो, फंड मैनेजर हिस्‍ट्री आदि की तुलना करें. जिससे आपको बेस्ट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट ऑप्शन अपनी जरूरत के हिसाब से Sip के लिए एक बढ़िया म्यूचुअल फंड का चुनाव करने में मदद मिलेगी.

रेटिंग: 4.22
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 830
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *